उत्तरप्रदेश

अगर काम किए होते तो “अब्बा, अब्बा” चिल्लाना नहीं पड़ता- असदुद्दीन ओवैसी

योगी के अब्बा जान वाले बयान पर घमासान उत्तर प्रदेश के योगी के पास किसी मुहल्ले की सड़क तक नहीं विकास के नाम पर बताने को !

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अब्बा जान वाले बयान को लेकर सोशल मीडिया पर घमासान मच गया है। बीते रविवार को कुशीनगर और संत कबीर नगर जिले में करोड़ों रुपये की परियोजना का शिलान्यास और उद्धाटन करने पहुंचे !

योगी आदित्यनाथ ने कहा था, पीएम मोदी के नेतृत्व में तुष्टिकरण की राजनीति के लिए कोई जगह नहीं है। हर गरीब को शौचालय दिया गया। क्या शौचालय देने के लिए किसी का चेहरा देखा गया? अब राशन मिल रहा है न? क्या 2017 से पहले भी मिलता था? तब तो अब्बा जान कहने वाले राशन हजम कर जाते थे। तब कुशीनगर का राशन नेपाल और बांग्लादेश पहुंच जाता था। कुछ लोगों का कहना है कि योगी अपने इस बयान के द्वारा सांप्रदायिक भावनाओं को भड़का रहे हैं। 

 

 

वहीं दूसरी ओर कई विपक्षी दल के नेताओं ने भी इसपर कड़ी प्रतिक्रिया दी हैं। जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट कर कहा, “मैं हमेशा से जानता हूं कि बीजेपी के पास इलेक्शन लड़ने के लिए सांप्रदायिकता और मुसलमानों के लिए नफरत के अलावा कोई अजेंडा नहीं है। यहां एक सीएम खुद को दोबारा चुने जाने के लिए दावा कर रहा है कि जो राशन हिंदुओं के लिए था, उसे मुसलमान खा गए”

 

 

दूसरी ओर असदुद्दीन ओवैसी ने भी इसपर प्रतिक्रिया दी हैं ओवैसी  ने ट्वीट कर कहा “अगर काम किए होते तो “अब्बा, अब्बा” चिल्लाना नहीं पड़ता”

 

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
×