राष्ट्रीय

क्यों है पूरे देश में NEET-PG काउंसिलिंग रोकने से नाराज हड़ताल पर डॉक्टर, क्या है पूरा मामला समझिये !

क्यों है पूरे देश में NEET-PG काउंसिलिंग रोकने से नाराज हड़ताल पर डॉक्टर, क्या है पूरा मामला समझिये !

पीजी काउंसिलिंग पर रोक लगने से नाराज देशभर के रेजिडेंट डॉक्टर आज हड़ताल पर हैं। इससे स्वास्थ्य सेवाएं चरमराने का अंदेशा है। बता दें कि नीट-पीजी की काउंसिलिंग पर 4 हफ्ते की रोक लगाई गई है। ऐसा ईडब्ल्यूएस यानी गरीबी की सीमा 8 लाख तय करने पर सुप्रीम कोर्ट की नाराजगी के बाद केंद्र ने किया है। सीमा को बढ़ाने का फैसला 4 हफ्ते में होगा। तब तक काउंसिलिंग टाली गई है। फेडरेशन ऑफ रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन FORDA ने इसी के विरोध में हड़ताल का आह्वान किया है।

सुप्रीमकोर्ट नीट परीक्षा में ओबीसी के लिए 27 फीसदी और EWS के लिए 10 फीसदी आरक्षण देने के केंद्र सरकार और काउंसिलिंग समिति के फैसले के खिलाफ अर्जी पर सुनवाई कर रहा है।

कोर्ट ने केंद्र सरकार को गरीब श्रेणी के लिए 8 लाख रुपए की वार्षिक आय सीमा पर फिर से विचार करने के लिए कहा है। फोर्डा ने इस पर अपनी नाराजगी जताते हुए कहा है कि पहले से ही बोझ से दबे और थके हुए रेजिडेंट डॉक्टर हैं, जो कोरोना महामारी की शुरुआत से फ्रंट लाइन पर लड़ रहे हैं। पहले से ही देरी से चल रहे नीट-पीजी के मामले में हम सुप्रीम कोर्ट की कार्यवाही में कुछ सकारात्मक परिणाम के लिए इंतजार कर रहे हैं। बता दें कि अदालत की सुनवाई 6 जनवरी 2022 को तय है। फोर्डा की ओर से कहा गया है कि हम इस मामले में सुप्रीम कोर्ट से पॉजिटिव रिजल्ट का इंतजार कर रहे हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
×